Gym Karne Ka Sahi Tarika

Gym Karne Ka Sahi Tarika के बारे में बात करेंगे

Gym आज के समय में एक परेशानी हैं जो हर चौथे व्यक्ति में दिखाई दे रही हैं, वो हैं अधिक वजन होना, जिसका सही मायने में एक ही इलाज हैं वो हैं शारीरिक मेहनत | कितने भी नुस्खे अपना ले, कई तरह के प्रयोग कर ले लेकिन सबसे कारगर प्रयोग हैं तो वो हैं एक्सरसाइज़ | यह एक्सरसाइज़ किसी भी रूप में हो सकती हैं या तो सुबह की वाक, योग, प्राणायाम या वेट ट्रेंनिंग | इन में से जो भी आपके लिये सही हैं और जो भी आप नियमित कर सकते हैं उसे अपनाकर ही आप वजन कम करने का अपना सपना पूरा कर सकते हैं |

वेट ट्रेनिंग एक्सरसाइज

  • Gym आने के 15 मिनिट पहले कुछ खा कर आना अच्छा होता हैं | बहुत ज्यादा नहीं जैसे चाय के साथ बिस्कुट, या फल, जूस आदि | खाली पेट वेट ट्रेनिंग करने से सही एवं एफ्फेक्टिव रिजल्ट नहीं मिलते | अवधारणा हैं कि एक्सरसाइज़ खाली पेट करना चाहिये लेकिन यह नियम योग एवम प्राणायाम के लिए हैं Gym में वर्कआउट के लिए पर्याप्त एनर्जी होना जरुरी हैं | दूसरा खाली पेट Gym करने से एसिडिटी भी हो सकती हैं |
  • Gym करते वक्त आपकी पोजीशन सही होना बेहद जरुरी है अधिक से अधिक वजन उठाने से ज्यादा जरुरी शरीर की पोजीशन सही होना जरुरी हैं अन्यथा चोट लग सकती हैं जो पूरा जीवन ख़राब कर सकती हैं |
  • किसी भी एक्सरसाइज़ के दो से तीन सेट जरुर ले और प्रति सेट में अपने सामर्थ्य के हिसाब से वजन बढ़ाकर उठाये | रोटेशन 20 se 25 रखे इसके बाद भी आप बिलकुल आसानी से कर रहे हैं तब नेक्स्ट टाइम वेट बढ़ाकर ले | लड़कियाँ भी वेट बढ़ा कर ले सकती हैं उसमे कोई परेशानी नहीं हैं |
  • वर्कआउट में सभी एक्सरसाइज़ पहले सही तरह से सीखे | कुछ दिनों तक ट्रेनर के साथ रहकर ही वर्कआउट करें |
  • हफ्ते में तीन दिन वेट ट्रेनिंग और तीन दिन कार्डियो बहुत अच्छा माना जाता हैं इससे बॉडी टोंनिंग भी होती हैं और स्टेमिना भी बढ़ता हैं |
  • शुरुवात में थोड़ा सा वार्म अप एवम अंत में स्ट्रेचिंग जरुर करें इससे बॉडी में फ्लेक्सिबिलिटी बनी रहेगी | पर इन दोनों में ही आवश्यक्ता से ज्यादा समय खर्च ना करें |

कुछ अहम् सवाल जो अक्सर ही पूछे जाते हैं :

कितने समय में मेरा कितना वजन कम हो जायेगा ?

यह एक बहुत ही स्टुपिड सवाल हैं जिसका जवाब कई बार ट्रेनर को अपने ट्रेनी को खुश करने के लिए देना पड़ता हैं लेकिन वास्तव में इस सवाल का जवाब नहीं दिया जा सकता | यह सब आपकी मेहनत और उससे भी ज्यादा आपके बॉडी टाइप पर निर्भर करता हैं | इसका पूर्वानुमान लगाना भी सही नही होता क्यूंकि ऐसा ना होने पर ट्रेनी डिप्रेशन में भी जा सकता हैं | वेटलॉस एक ऐसा काम हैं जिसके रिजल्ट ना मिलने का मनुष्य में बहुत जल्दी निराशा के भाव आ जाते हैं जो कि बहुत गलत परिणाम देते हैं | वजन कम करने के लिए सकारात्मक सोच का होना बहुत जरुरी हैं |

क्या में एक्सरसाइज़ छोड़ते ही मोटा हो जाऊंगा या हो जाउंगी ?

आप एक बात ध्यान रखे | आपकी बॉडी में कोई चीज बैलेंस नहीं हैं इस कारण ही आप वेट गेन कर रहे हैं या तो कोई हार्मोनल तकलीफ हैं, थायराइट हैं, या मेटाबोलिज्म में कमी जिसके कारण आप मोटे हो रहे हैं ये कमी या अधिकता बॉडी से कभी दूर नहीं होती हैं यह केवल एक्सरसाइज़ से मेंटेन हो सकती हैं जिसे अगर आप छोड़ेंगे तो यह मेंटेनेंस बिगड़ेगा और आप वापस मोटे होने लगेंगे | इसका यह मतलब नहीं हैं कि आप एक्सरसाइज़ ना करें क्यूंकि अगर कोई कमी हैं तो उसे स्वीकार कर उसका इलाज करने में ही समझदारी हैं | नियमित वर्कआउट करने से शरीर स्वस्थ होता हैं इसमें कोई हानि नहीं हैं |

लड़कियाँ भी वेट एक्सरसाइज़ कर सकती |

यह एक बिलकुल गलत बात हैं | लड़कियाँ अपने स्टेमिना के हिसाब से सारी वेट एक्सरसाइज कर सकती हैं | कई लोग कहते हैं कि ऐसा करने से लड़कियों के मस्स्ल्स बन जाते हैं और उनकी नाजुकता खत्म हो जाती हैं | यह बिलकुल गलत बात हैं लड़कियों में हैवी मसल्स बने, ऐसे होरमोन ही नहीं होते, जो लड़कियाँ अपने मसल्स डेवलप करती हैं उन्हें इसके लिए मेडिकल हेल्प लेनी पड़ती हैं जिसमे उनकी बॉडी में होरमोन ट्रान्सफर किये जाते हैं | इसलिये यह सोचना कि लडकियाँ हैवी वेट ट्रेनिंग नहीं कर सकती बिलकुल गलत हैं |

वेट लॉस एवम इन्चेस लॉस में अंतर होता हैं :

gym training अथवा वेट ट्रेनिंग का महत्वपूर्ण कार्य इन्चेस कम करना होता हैं जिसमे BMI (Body  Metabolic Index) को कम किया जाता हैं जो भी BMI आपकी हाइट और एज के हिसाब से सही हैं उसे कैलकुलेट किया जाता हैं और उस हिसाब से वेट ट्रेंनिंग ली जाती हैं |

वेट ट्रेनिंग में सामान्यतः बॉडी टोंनिंग होती हैं जिससे शरीर मजबूत होता हैं और गठता हैं और यही कारण हैं कि वेट ट्रेंनिंग में इन्चेस कम होते हैं और वजन या तो समान बना रहता हैं या कभी-कभी बढ़ता भी हैं जो कि निराशाजनक नहीं हैं | इसका मतलब यह नहीं हैं कि आप मोटे हो रहे हो | अगर आपका इंच लॉस हो रहा हैं और वजन में कोई कमी नहीं  आई हैं इसका मतलब हैं आपकी बॉडी मजबूत हो रही हैं, आपकी बॉडी वेट ट्रेनिंग के अनुरूप कार्य कर रही हैं और आपको बेहतर रिजल्ट दे रही हैं |

ये भी पढ़ें Demat Account kholne ka sahi tarika

वेट ट्रेनिंग में नींद फायदेमंद हैं

जब हम मसल्स पर काम करते हैं तो मसल्स थक जाती हैं उसमे एक तरह का दर्द बन जाता हैं जो संकेत देता हैं कि आज के प्रोग्राम में आपने बॉडी के कौन से पार्ट के लिए काम किया | जब हम वर्क आउट करते हैं तब भी हमें बॉडी से एनर्जी लगती हैं और जब हम नींद लेते हैं तब हमारी मसल्स रिलेक्स होती हैं उसकी रिकवरी होती हैं तब भी बॉडी रिलेक्स होने के लिए अपने फेट को एनर्जी के रूप में इस्तेमाल करती हैं इससे फेट लॉस होता हैं इसलिये वेट ट्रेंनिंग करने वालो को भरपूर 7 से 9 घंटे की अच्छी नींद लेना जरुरी हैं जो उनके लिये फायदेमंद साबित होता हैं | ऐसा ना करने पर वजन बढ़ने लगता हैं और शरीर थका हुआ एवम दुर्बल होने लगता हैं |

कुछ महत्वपूर्ण एक्सरसाइज़ के नाम

लोअर बॉडी एक्सरसाइज़

1 स्क्वेट यह शरीर की बड़ी मसल्स पर काम करती हैं इसलिये इसका असर

पुरे शरीर पर पड़ता हैं

लेकिन खासतौर पर जन्घो/ थाईज़ के लिए होती हैं |

2 लंजेस यह भी जांघ थाईज़ वर्कआउट हैं
3 लेग एक्सटेंशन थाईज़ उपर मसल्स
4 लेग कर्ल थाईज़
5 लेग प्रेस लोअर बॉडी

अपर बॉडी हैण्ड एक्सरसाइज़

1 बाइसेप्स हाथो के कोहनी के उपर आगे के हिस्से की मसल्स पर की जाने वाली एक्सरसाइज़
2 ट्राइसेप्स हाथो के कोहनी के उपर पीछे के हिस्से की मसल्स पर की जाने वाली एक्सरसाइज़
3 फोर आर्म कोहनी के निचे के हिस्से पर की जाने वाली एक्सरसाइज़
4 चीन अप अपर बॉडी मशीन एक्सरसाइज़
5 पुश अप्स अपर बॉडी बॉडी वेट एक्सरसाइज़
6 चेयरडिप्स ट्राइसेप्स हैण्ड बॉडी वेट एक्सरसाइज़
7 हैमर हैण्ड एक्सरसाइज़

 

ऐसी बहुत सी एक्सरसाइज़ हैं जो Gym वेट ट्रेनिंग के दौरान करवाई जाती हैं जिन्हें सही तरह से सीखे एवम करें | अपने ट्रेनर पर विश्वास रखे सवाल करे लेकिन सिखने और जानने की दृष्टि से ट्रेनर की योग्यता को परखने की दृष्टि से नही | सभी ट्रेनर का तरीका अलग होता हैं लेकिन उद्देश्य सभी का एक होता हैं जिसमे उनके ट्रेनी को फायदा हो इसलिए अपने ट्रेनर पर हमेशा भरोसा रखे |

ये भी पढ़े Adobe Tips! Convert Web Pages to PDF Files

 

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

%d bloggers like this: