ये है भारत के मॉर्डन गांव, जिनके आगे महानगर भी है फ़ैल

ये है भारत के मॉर्डन गांव, जिनके आगे महानगर भी है फ़ैल

किसी भी देश के विकास और शांति के लिए गांव की अहम भूमिका होती है। गांव किसी भी देश के लम्बे समय तक ठीके रहने और संतुलन का मुख्य आधार होते है। शायद इसलिए भारतीय गांव के विषय में राष्ट्पिता महात्मा गाँधी ने कहा था की भारत की आत्मा यहां के गांव में बसती है।

अपने इस कथन से महात्मा गाँधी जी ने साफ़ कर दिया था, की भारत में गांव का योगदान और महात्मा बहुत ज्यादा है। हलाकि, आज गांवो को पिछड़ा हुआ माना जाता है, जिस कारन इन्हे विकास मॉडल में जगह नहीं मिल पति है।

इस भ्रम को तोड़ने हुए आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे गांवो के बारे में बताने जा रहे है जो कई माइनो में शहरी जीवन से कई ज्यादा आगे है। तोह चलिए जानते है इन गाओं के बारे में।

पोथानिक्कड़, केरल

Source:health

कहा जाता है कि ग्रामीण जीवन के साथ यहां की शिक्षा का स्तर भी काफी निचा होता है।, लेकिन पोथानिक्कड़ इस बात को पूरी तरह ख़ारिज करता है। इस गांव में शिक्षा का स्तर 100 % है। पिछले कुछ समय में पोथानिक्कड़ में कई सरकारी और प्राइवेट स्कूल खोले गए है, जिस वजह से गांव ने अपनी सदियों पुरानी परंपराओं और संस्कृति को भी संजोकर रखा है।

अगर आप गाओं के प्राकृतिक सुंदरता के बिच खोना चाहते है तो आप इस गांव से महज 16 किमी की दुरी पर बसा थोम्मानकुथु झरना देखने जा सकते है। इसके अलावा आप पोथानीकेड सैट मैरी जैकोबाइट सीरियन चर्च और पोथानीकेड उम्मानिकुंनु सैंट मैरी ऑर्थोडॉक्स सीरियन चर्च भी देख सकते है।

मावलिनोंग, मेघालय

Source: Firkee

 

 

Source: Fundabook.com

ये गांव बहुत खूबसूरत है और यहां का प्राकृतिक सौंदर्य आपको मंत्रमुग्ध होने पर मजबूर कर देगा। मावलिनोंग को यहां के निवासियों ने अपनी कला से सजाया है। साल 2003 में इस गांव को एशिया के सबसे स्वच्छ गांव की उपलब्धि मिली थी। और तभी से ये ऑफबीट ट्रैवल्स के बीच प्रसिद्ध हो गया।

शिलोंग से लगभग 80 किमी की दुरी पर स्थित मावलीनांग गांव स्वच्छता और हाइजीन भरे वातावरण के लिए देश भर में मन जाता है। इस गांव की सड़के पूरी तरह से साफ़ है और यहाँ जगह जगह पर बांस से बने कूड़ेदान रखे गए है। इस गांव में धूल और गंदगी से दूर रहने के नियम भी बनाए गए है। यहां पर आप लिविंग रुट ब्रिज और झरनो के साथ साथ मावलीनांग के सवादिष्ट लोकल फ़ूड का मजा भी ले सकते हे।

ये भी पड़े :पाकिस्तान के विचित्र नियम कानून जिसे जानकर आप अपनी हंसी नहीं रोक पायेगा

शनि शिंगणापुर, महारष्ट्र

Source: zeenews.india.com

 

Source: BBC

क्या अपने कभी बिना दरवाजो के घरों के बारे में सुना है ? जी हाँ, सुनने में थोड़ा अजीब लगता है, लकिन इस शहर में ये बात बिलकुल सच है।इस शहर के किसी भी घर में आपको दरवाजा या ताला दिखाई नहीं देगा। इस शहर को देश का सबसे सुरक्षित शहर भी कहा जाता है। सबसे खास बात तो ये है की यहाँ पर कोई भी पुलिस स्टेशन तक नहीं है। यह पर कई शनि मंदिर भी है। इन मंदिरो के कारन आपको महाराष्ट के इस शहर हर जगह अधत्यम की छाया बिखरी हुई आएगी।

पुनसारी, गुजरात

Source: properties24x7.com

 

Source: Gaon Connection

देश और दुनिया के लिए उदहारण बने गांवो की लिस्ट में पुनसारी गांव को कैसे भूला जा सकता है. इस गांव में सभी तरह के आधुनिक सुविधाएं जैसे सीसीटीवी कैमरा और वाईफाई सुविधा आदि उपलब्ध। है। पुनसारी में किसी भी तरह की आधुनिक सुविधा की कमी नहीं है। इस गांव को देखर भारत के कई मॉर्डन शहरों तक को शर्म आ जाएगी। अहमदाबाद से महज 2 घंटे की दुरी पर पुनसारी गांव पहुंचा जा सकता है। आधुनिकीकरण की दुनिया में इस गांव में आपको ग्रामीण जीवन के बीच सभी मॉर्डन सुविधाएं मिलेंगे।

ये भी पड़े :इंटरनेट से पैसे कैसे कमाए ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीका

धरनई, विहार

Source: Amazing India Blog

 

 

Source: Dharnai Live

विहार का एक छोटा सा गांव है धरनई, जहा 30 सालो तक बिजली की सुबिधा नहीं थी। और इस बात से परेशान होकर इस गांव के लोगो ने खुद बिजली का उत्पादन शुरू कर दिया। जो भारत का पहला सोलर पॉवर गांव है जिसमे हरित क्रांति के बाद अत्यानिर्भरता का बल आया है। आज पूरा धनरई गांव सोलर पावर पर चलता है और अब इस छोटे से गांव के घर में बिजली है।

SOURCE:

Content Protection by DMCA.com

Random Posts

Leave a Reply