diwalishoping

दिवाली पर ऑनलाइन शॉपिंग करने से पहले यह जरूर पढ़ें

अगर दीपावली त्योहार पर आप भी ऑनलाइन शॉपिंग करने की सोच रहे हैं | तो जिस वेबसाइट से आप शॉपिंग करने जा रहे है उस वेबसाइट को एक बार जरूर जाँच लें | कि कही वो मिलते जुलते नाम वाली फ़र्ज़ी साइट तो नहीं है | जी हा क्युकी त्योहारी सीजन में ऐसा फ़र्ज़ी बाड़ा बहुत देखने को मिलता है |

दरअसल त्योहारी सीजन में ऑनलाइन शॉपिंग के होने वाले करोड़ों के कारोबार पर साइबर ठगों की निगाह जमी रहती है। और वो बड़ी- बड़ी साइट जिनसे ज्यादा शॉपिंग होती है उनकी जैसी फ़र्ज़ी साइट बनाकर लोगो को ठगते है | तो ध्यान रहे कि साइट पर जाकर उसे उसे अच्छे से चेक करले |

ठगी लोग फर्जी वेबसाइट के जरिए लोगों को त्यौहार पर बहुत चूना लगाने की कोशिश कर रहे हैं। राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के बहुत से जिलों में अब तक ठगी की 30 से ज्यादा शिकायतें सायबर सेल और पुलिस थानों तक आ चुकी हैं।इसलिए ऑनलाइन खरीदारी करते समय विशेष सावधानी बरतना आवश्यक है,क्योकि थोड़ी सी चूक आपको भी ठग सकती है और आपका भी खाता खाली करबा सकती है।

जानकारी के अनुसार रायपुर में रोज करीब 25 लाख रुपए की ऑनलाइन खरीददारी का कारोबार है। प्रदेश में यह आंकड़ा तीन करोड़ रुपए प्रतिदिन है। दीपावली के अवसर पर करीब सौ करोड़ रुपए की ऑनलाइन खरीदारी होने का अनुमान कारोबारियों ने लगाया हुआ है। इसके देखते हुए साइबर ठग ऑनलाइन फर्जी वेबसाइट से ठगी का जाल फैला रहे हैं।

शातिर ठग अलग-अलग नामों से 20 से अधिक फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों को ठग रहे है |और वो कई तरह से लोगो को फ़साने की कोशिश कर रहे है | कैशबैक का लालच देकर ,डिस्काउंट का लालच देकर लोगो को ठग रहे है |

sahitarika07

पुलिस के अनुसार फर्जी वेबसाइट मात्र पांच से दस हजार में बनकर तैयार हो जाती है। सायबर ठग कुछ ही दिनों में वेबसाइट और होस्टिंग का पता बदल देते हैं। अगर सायबर पुलिस इन्हें ट्रेस करने की कोशिश भी करती है तो इनका Server विदेश में दिखाता है। इस तरह की साइट्स असली साइट की अपेक्षा और अन्य कंपनियों से बीस से तीस प्रतिशत ज्यादा डिस्काउंट देती है। ज्यादा डिस्काउंट मिलने के लालच में लोग फंसकर ठगी के शिकार हो जाते हैं।

क्राइम ब्रांच डीएसपी सत्येंद्र पांडेय ने बताया  है  कि ऑनलाइन शॉपिंग करते समय कोशिश करनी चाहिए कि एक ही कार्ड का उपयोग करना उचित होगा , जिससे खाता चेक करते समय किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा | और अगर कुछ गड़बड़ी होती है तो तुरंत पता चल जाएगा ।

डेबिट कार्ड की वजाय क्रेडिट कार्ड से भुगतान करें, क्योंकि बैंक क्रेडिट कार्ड के साथ जो गारंटी देता है, वह डेबिट कार्ड के साथ नहीं मिलती है। एटीएम, क्रेडिट व डेबिट कार्ड का उपयोग करते समय हमेशा एक बात का ध्यान रखना चाहिए किकोई इसका गलत उपयोग तो नहीं हो रहा है।और 1 ,2 दिन में चेक करते रहना चाहिए |

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने आस -पास के लोगो में शेयर करें और अच्छी और सही जानकारी के लिए आते रहे हमारी साइट www.sahitarika.com पर |

धन्यबाद !

 

Random Posts

Leave a Reply